Tips

लौंग के तेल के 21 फायदे और नुकसान – Clove Oil Benefits and Side Effects in Hindi

लौंग का नाम लेते ही सबसे पहले जहन में उसकी मनमोहक खुशबू आती है। साथ ही ध्यान में आता है कि दांत दर्द में लौंग से बेहतर कुछ नहीं है, लेकिन हम बता दें कि लौंग का उपयोग यहीं तक सीमित नहीं है। इससे बनने वाले लेप और तेल के भी कई फायदे हैं। आपको बता दें कि लौंग की खेती मुख्य रूप से एशिया और दक्षिण अमेरिका के कुछ हिस्सों में होती है। इसके फूल व पत्तियों से लेकर फल और जड़ हर चीज का उपयोग किया जाता है। कहीं यह भोजन को स्वादिष्ट बनाता है, तो कहीं इसका उपयोग दवा बनाने के लिए होता है (1)। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम लौंग के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में जानेंगे।

आइए, सबसे पहले बात करते हैं लौंग के तेल के फायदे के बारे में।

लौंग के तेल के फायदे – Benefits of Clove Oil in Hindi

आपको बचपन का वो समय जरूर याद होगा, जब दाढ़ में दर्द होने पर दादी या मां लौंग के तेल को दाढ़ में लगा देती थी और उससे तुरंत आराम भी मिल जाता था। लौंग के तेल के ऐसे कई फायदे हैं। आइए, जानते हैं लौंग के तेल के फायदे के बारे में।

1. दांतों की केयर के लिए उपयुक्त

कीटाणुनाशक गुणों और यूजेनॉल की उपस्थिति के कारण लौंग का तेल माउथवॉश और टूथपेस्ट जैसे कई दंत उत्पादों में इस्तेमाल होता है। लौंग आपको दांतों के दर्द, मुंह के छाले और मसूड़ों से लड़ने में मदद करती है (2)। इसके अलावा, लौंग सांस की बदबू को दूर करती है और गले के दर्द को भी कम करती है। खराब सांस के लिए लौंग के तेल का उपयोग आसान है। एक कप गर्म पानी में लौंग के तेल की चार बूंदें मिलाएं और दिन में दो बार गरारे करें (Three)।

2. सिरदर्द होता है दूर

लौंग का तेल दिमाग और शरीर पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। यह दिमाग को शांत करके आपके सिर दर्द को ठीक करने में मदद कर सकता है। मतली, उल्टी, दस्त और गैस जैसी विभिन्न बीमारियों का इलाज करने के लिए लौंग का तेल उपयोग किया जा सकता है (Four)।

Three. बेहतर प्रतिरक्षा प्रणाली

लौंग के तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो आपके शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर करते हैं। साथ ही इसके एंटीवायरल गुणों के कारण प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद मिली है। वैज्ञानिक परिणामों के जरिए भी पुष्टि की गई है कि लौंग का तेल प्रतिरक्षा प्रणाली को संतुलित कर सकता है (5)।

Four. संक्रमण से राहत

लौंग के तेल में यूजेनॉल नामक एक केमिकल होता है, जो एनेस्थेटिक और एंटीबैक्टीरियल के रूप में कार्य करता है। यह दर्द को कम करने और संक्रमण से लड़ने में मदद कर सकता है। लौंग का तेल एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीफंगल भी होता है, लेकिन अभी इस संबंध में और शोध की आवश्यकता है (1)।

5. मधुमेह रोगियों के लिए लौंग का तेल

लौंग के तेल में एंटीऑक्सीडेंट गुण और सोडियम नाइट्रोप्रुसाइड पाए जाते हैं, जो रक्त में मौजूद शुगर को कंट्रोल करने में सहायक हो सकते हैं। प्रतिदिन एक लौंग काे खाने से शुगर को कंट्रोल किया जा सकता है (6)।

6. मतली का इलाज

लौंग का तेल मतली को नियंत्रित करने में बहुत प्रभावी है। इसका उपयोग गर्भवती महिलाओं द्वारा मॉर्निंग सिकनेस और असहजता को कम करने के लिए किया जा सकता है। यात्रा के दौरान भी लौंग के तेल की खुशबू मलती को दूर करने में फायदेमंद साबित हो सकती है (7)।

7. यौन क्षमता का इलाज

लौंग के तेल के फायदे के कारण इसका उपयोग यूनानी चिकित्सा में प्राचीन काल से पुरुषों के यौन विकारों के उपचार के लिए किया जाता रहा है। लौंग का तेल यौन क्षमता को बेहतर कर सकता है (eight)।

eight. तनाव से राहत

खुशबूदार लौंग की कलियों के अर्क का उपयोग एंटीऑक्सीडेंट के रूप में किया जा सकता है (9)। लौंग के तेल से शरीर पर की गई मालिश तुरंत शरीर को तरोताजा कर देती है। साथ ही यह दिमाग को शांत रखता है व मानसिक थकावट को दूर करने में भी मदद कर सकता है (Four)।

9. तंदुरुस्त पाचन तंत्र

अगर आप पाचन तंत्र को ठीक करना चाहते हैं, तो लौंग का इस्तेमाल किया जा सकता है (10)। अपच, दस्त, सूजन और पेट फूलने जैसी समस्याओं के इलाज के लिए लौंग का तेल बहुत उपयोगी है। अगर लौंग के तेल की कुछ बूंदें पेट पर लगाई जाएं, तो इससे गैस को कम करने और शरीर से टॉक्सिन पदार्थों को खत्म करने में मदद मिल सकती हैं ।

10. कान दर्द में आराम

कान के दर्द से तुरंत राहत पाने के लिए लौंग का तेल अचूक घरेलू उपाय हो सकता है। इसमें पाया जाने वाला एसिटाइल यूजेनॉल एक दर्द निवारक के रूप में काम करता है। आप 2 चम्मच तिल के तेल में Three-Four बूंद लौंग का तेल मिलाकर हल्का गर्म कर लें। फिर धीरे-धीरे इस मिश्रण को अपने कानों के अंदर लगाएं और कुछ समय के लिए इसे छोड़ दें। ऐसा करने से आपको तुरंत कान के दर्द से राहत मिल सकती है (Four)।

11. सांस की समस्या से छूटकारा

लौंग के तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो कि श्वसन नली से कफ को साफ करने में मदद करते हैं। इस कारण से ही लौंग का इस्तेमाल ब्रोंकाइटिस, अस्थमा और सांस की अन्य समस्याओं के इलाज के लिए किया जा सकता है (Four)।

12. खून को साफ करना

लौंग का तेल एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होता है, जो रक्त में माैजूद टॉक्सिन पदार्थ को बाहर कर रक्त को साफ करने में मदद करता है (Four)।

13. आंखों का इलाज

कई बार पलक के बाहरी किनारे पर एक लाल रंग की गांठ या छोटा-सा दाना हो जाता है। इसका इलाज लौंग की मदद से किया जा सकता है। लौंग में एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो कम समय में दर्द और सूजन को कम कर सकते हैं। इसके तेल की कुछ बूंदों को कॉटन में डालकर आंख की संक्रमित जगह पर लगाने से जल्द आराम मिल सकता है (11)।

14. हैजा को करे दूर

हैजा दूषित पानी या भोजन का सेवन करने की वजह से हो सकता है (12)। इस अवस्था में हैजा आपके काम आ सकता है। क्या आप जानते हैं कि लौंग के तेल में माैजूद एंटीबैक्टीरियल गुण हैजा के संक्रमण को फैलाने वाले वायरस को खत्म करने में कारगर हैं (13)। लौंग के तेल की 2-Three बूंदें पानी में मिलाकर पीने से फायदा हो सकता है। ध्यान रहे कि इस गंभीर बीमारी में डॉक्टर की सलाह के बिना इसका सेवन न करें।

15. आंत के कीड़ों का इलाज

लौंग में एंटीमाइक्रोबियल जैसे गुण मौजूद होते हैं, जो आंत में रहने वाले कीड़ों को मारते हैं (14)। उचित मात्रा में किया गया लौंग का सेवन पेट में मौजूद कीड़ों की रोकथाम में कारगर हो सकता है। आंत में मौजूद कीड़ों की रोकथाम के लिए एक गिलास पानी में लौंग के तेल की एक-दो बूंदों को डालकर उसका सेवन करने से राहत मिल सकती है ।

सेहत के बाद जानते हैं कि लौंग के तेल के फायदे त्वचा के लिए कैसे हो सकते हैं।

त्वचा के लिए लौंग के फायदे – Skin Benefits of Clove Oil in Hindi  

सेहत के साथ ही त्वचा के लिए भी लौंग के तेल के फायदे मिल सकते हैं। इसमें कई औषधीय गुण होते हैं, जो त्वचा के लिए लाभदायक हो सकते हैं।

16. मुंहासे होते हैं दूर

लौंग का तेल एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुणों से भरपूर होता है (9), जो मुंहासों के उपचार में अत्यधिक लाभकारी होता है। यह मुंहासे पैदा करने वाले बैक्टीरिया से लड़ता है और संक्रमण को कम करता है। साथ ही चेहरे के रोम छिद्रों को बढ़ने से रोकता है।

कैसे करें उपयोग :

अपनी स्किन क्रीम या लोशन में लौंग के तेल की 2-Three बूंदें मिलाएं और इसे नियमित रूप से मुंहासों पर लगाएं। इससे आपको मुंहासे धीरे-धीरे कम होने लगेंगे।

17. दाग-धब्बे करे कम

विशेषज्ञों की देखरेख में लौंग का तेल इस्तेमाल करने से त्वचा पर दाग-धब्बों को कम किया जा सकता है। साथ ही यह मृत त्वचा को हटाने में भी मदद करता है, जिससे आपकी त्वचा स्वस्थ और चमकदार नजर आएगी।

कैसे करें उपयोग :

लौंग के तेल की कुछ बूंदों को पानी में डालकर सुबह-शाम उससे अपने चेहरे को धो लें। रोज ऐसा करने से जल्द ही चेहरे के दाग साफ हो सकते हैं।

18. कॉस्मेटिक उत्पादों का मुख्य तत्व

लौंग के तेल का उपयोग कई कॉस्मेटिक उत्पादों के निर्माण में किया जाता है (15)।

कैसे करें उपयोग :

आप लौंग के तेल को नहाते समय पानी में मिक्स कर सकते हैं या फिर अपनी स्किन क्रीम में भी मिला सकते हैं।

त्वचा के साथ ही लौंग का तेल बालों के लिए भी फायदेमंद होता है। आइए जानते हैं कैसे।

बालों के लिए लौंग के फायदे – Hair Benefits of Clove Oil in Hindi

अगर आप बालों की समस्या से परेशान हैं, तो चिंता न करें। गुणकारी लौंग के तेल का उपयोग बालों से जुड़ी कई समस्याओं का समाधान बन सकता है।

19. बालों के विकास के लिए

सिर और बालों पर थोड़ी मात्रा में लौंग का तेल लगाने से बालों का गिरना कम हो सकता है और बालों के विकास में मदद मिलती है। लौंग के तेल में यूजेनॉल पाया जाता है, जो बालों के विकास में मददगार हो सकता है। यह तेल आपके बालों को लंबा और चमकदार बना सकता है (16)।

कैसे करें उपयोग :

आप अपने शैम्पू की बोतल में लौंग के तेल की लगभग 10-12 बूंदें मिलाकर उपयोग कर सकते हैं।

20. बालों का झड़ना कम करता है

लौंग का तेल में पाए जाने वाले यूजेनॉल के कारण बालों का झड़ना कम हो सकता है। साथ ही बाल जड़ों से मजबूत बनते हैं (16)।

कैसे करें उपयोग :

2 चम्मच नारियल तेल और लौंग के तेल की 5 बूंदों को मिलाकर एक हेयर ग्रोथ मास्क बनाएं और इसे अपने सिर व बालों पर लगाएं।

21. नेचुरल हेयर कंडीशनर

लौंग के तेल में औषधीय गुण होते हैं। यह तेल बालों को स्मूथ करने में मदद करता है। आप इसका उपयोग तेल व शैंपू के साथ ही कंडीशनर के रूप में भी कर सकते हैं।

कैसे करें उपयोग :

आप नारियल तेल की 6 बूंदों में लौंग के तेल की 2 बूंदें मिलाकर सिर व बालों की धीरे-धीरे मालिश करें, ताकि तेल अच्छी तरह से बालों में समा जाए।

इन सब के अलावा लौंग के तेल के और भी कई उपयोग हैं। आइए जानते हैं उन उपयोगों को।

लौंग के तेल का उपयोग – How to Use Clove Oil in Hindi

लौंग में मौजूद एंटी बैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुणों के कारण हम इस तेल का उपयोग और भी समस्याओं से निपटने के लिए कर सकते हैं। यहां हम और भी लौंग के तेल के फायदे और इसके उपयोग के आसान टिप्स बता रहे हैं।

  1. कीड़ों की रोकथाम: लौंग का उपयोग कीटनाशक के रूप में किया जा सकता है (9)। इसे मोमबत्तियों में इस्तेमाल किया जाता है, क्योंकि इसकी खुशबू कीटों को भगाने में कारगर है। वहीं, रात को सोने से पहले तेल की कुछ बूंदों को बिस्तर पर छिड़कने से भी कीड़ों को दूर भगाया जा सकता है।
  1. कॉस्मेटिक: इसे आप अपनी क्रीम या फिर लोशन में मिला सकती हैं। आप लौंग के तेल से शरीर की मालिश भी कर सकते हैं।
  1. फ्लेवरिंग एजेंट: इसका इस्तेमाल भारतीय व्यंजनों, अचार, सॉस, मसाला व केक आदि का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जा सकता है।
  1. साबुन और परफ्यूम: शक्तिशाली सुगंध, आयुर्वेदिक प्रभाव और एंटीसेप्टिक गुणों के कारण लौंग का तेल का इस्तेमाल साबुन व परफ्यूम बनाने में भी किया जाता है।
  1. अरोमाथेरेपी: लौंग का तेल तुलसी, मेंहदी, गुलाब, दालचीनी, अंगूर, नींबू, जायफल, पुदीना, ऑरेंज व लैवेंडर आदि एसेंशियल ऑयल्स के साथ अच्छी तरह से मिल जाता है। लौंग का तेल अरोमाथेरेपी में भी लाभदायक साबित होता है।

लौंग के तेल के फायदे हैं, तो इसके नुकसान भी हैं, आइए जानते हैं इससे होने वाले नुकसान।

लौंग के नुकसान – Side Effects of Clove Oil in Hindi

लौंग के तेल के फायदे और नुकसान दोनों ही हैं। वैसे तो लौंग का तेल अपने गुणों के कारण बहुत फायदेमंद है, लेकिन इसका अधिक मात्रा में किया गया उपयोग इसे नुकसानदायक भी बना सकता है। आइए जानते है कि लौंग के तेल से कौन-कौन से नुकसान हो सकते हैं।

  1. कोमा की स्थिती: अधिक मात्रा में लौंग के तेल का सेवन करने से कोमा जैसी स्थिती बन सकती है (17)।
  1. एलर्जी और टॉक्सिक प्रभाव: लौंग के तेल में यूजेनॉल होता है, जिसके कारण इसका अधिक मात्रा में उपयोग एलर्जी या टॉक्सिक प्रभाव पैदा कर सकता है (18)।
  1. कम ब्लड शुगर: इस तेल के कारण रक्त में मौजूद शुगर में गिरावट हो सकती है, इसलिए मधुमेह रोगियों को इसका उपयोग सावधानी से करना चाहिए (6)।
  1. लौंग वाली सिगरेट: सिगरेट हर तरह से हानिकारक है, फिर चाहे वो लौंग वाली ही क्यों न हो। लौंग वाली सिगरेट पीने से उल्टी, अस्थमा, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस, हेमोप्टाइसिस, सांस लेने में तकलीफ और फेफड़ों में संक्रमण हो सकता है (19)।
  1. बच्चों में प्रभाव: लौंग का तेल बच्चों की आंतों में परेशानी पैदा कर सकता है। गंभीर मामलों में यह अंदरुनी अंगों को खराब भी कर सकता है। लौंग का तेल इस्तेमाल करने से बच्चों को उल्टी व दौरे जैसी समस्याएं हो सकती हैं (19)।

अब जब आप इस लेख के माध्यम से लौंग के तेल के फायदे अच्छे से जान गए हैं, तो फिर इसे अपनी दिनचर्या में जरूर शामिल करें। साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि लौंग के तेल के फायदे और नुकसान दोनों हैं। यह ध्यान रखना भी जरूरी है कि इसे सीमित मात्रा में प्रयोग करने से ही फायदा होगा। इसके उपयोग के बाद आपको किस प्रकार लाभ हुआ, अपने अनुभव आप नीचे दिए कमेंट बॉक्स के जरिए हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

संबंधित आलेख

The publish लौंग के तेल के 21 फायदे और नुकसान – Clove Oil Benefits and Side Effects in Hindi appeared first on TopBeautySecrets.org.

Leave a Comment