Tips

पैरों में सूजन को कम करने के 15 असरदार घरेलू उपाय – Swollen Feet Home Remedies in Hindi

कई बार ज्यादा पैदल चलने, पहाड़ी चढ़ाई या गुम चोट के कारण पैरों में सूजन आ जाती है। पैरों की सूजन सामान्य और कष्टदायक दोनों रूपों में हो सकती हैं। आमतौर पर लोग इसे अनदेखा कर देते हैं, लेकिन लापरवाही की स्थिति में सूजन घातक परिणाम भी दे सकती है। इस लेख में हम आपको पैरों की सूजन को कम करने के सबसे कारगर घरेलू नुस्खे बता रहे हैं, जो आपको जल्द आराम देने का काम करेंगे। आइए, सबसे पहले जानते हैं कि पैरों की सूजन आखिर होती क्या है?

क्या है पैरों की सूजन – What is Swollen Feet in Hindi

पैरों की सूजन एक आम समस्या है, जिसे चिकित्सीय भाषा में पीडल इडिमा कहा जाता है। यह एक सामान्य समस्या है और दर्द के स्तर में उतार-चढ़ाव हो सकता है। इसके होने की वजह टांग के निचले हिस्से में तरल पदार्थ का जमा होना है (1)। इसके होने की वजह सामान्य और गंभीर दोनों हो सकती है। आइए, नीचे जानते हैं कि पैरों में सूजन होने के कारण क्या हैं।

पैरों में सूजन के कारण – Causes of Swollen Feet in Hindi

पैरों में सूजन होने के विभिन्न कारण हो सकते हैं, जिनमें निम्नलिखित बिंदुओं को शामिल किया जा सकता है (2)-

  • शरीर का अधिक वजन होना।
  • पैर में खून के थक्के बनना।
  • अगर व्यक्ति की उम्र ज्यादा हो।
  • पैर में किस प्रकार का संक्रमण होना।
  • पैरों से वापस हृदय तक रक्त के प्रवाह में दिक्कत होना।
  • पैर से जुड़ी चोट या सर्जरी।
  • लंबे समय तक खड़े रहना।

पैरों में सूजन के लक्षण – Symptoms of Swollen Feet in Hindi 

पैर में सूजन के दौरान नीचे बताए जा रहे लक्षण देखे जा सकते हैं (three)-

  • टखनों और पैरों में सूजन।
  • पैरों का भारी होना।
  • सूजे हुए क्षेत्र को दबाने पर गढ्ढा बनना।
  • सूजी हुई त्वचा में गर्माहट।
  • चहले-फिरने में दिक्कत।
  • सूजे हुए क्षेत्र में झुनझुनी या दर्द का अहसास।

पैर में सूजन के कारण और लक्षण के बाद आगे जानिए पैरों में सूजन के उपाय।

पैरों में सूजन के घरेलू उपाय – Home Remedies for Swollen Feet in Hindi 

पैरों में सूजन की समस्या को घरेलू उपायों द्वारा दूर किया जा सकता है, जिन्हें इस्तेमाल करना आसान है। आइए, नीचे जानते हैं उन सटीक प्राकृतिक घरेलू उपचारों के बारे में, जो सूजन से जल्द छुटकारा देने की क्षमता रखते हैं –

1. आइस पैक

सामग्री :
  • आइस पैक
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सूजन वाले स्थान पर 10-12 मिनट के लिए आइस पैक लगाएं।
  • अगर आपके पास घर में आइस पैक नहीं है, तो आप कुछ बर्फ के टुकड़ों को गीले तौलिये में बांधकर उपयोग में ला सकते हैं।
कितनी बार करें :

दिन में तीन-चार बार इस प्रक्रिया को दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

आइस पैक रक्त के प्रवाह को बढ़ावा देने का काम करता है, जिससे सूजन और दर्द कम हो जाता है (four)। इसे सूजन के सबसे कारगर घरेलू उपचारों में गिना जाता है।

2. धनिए के बीज 

सामग्री :
  • three बड़े चम्मच धनिए के बीज
  • 1 कप पानी 
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बीजों को पानी में तब तक उबालें, जब तक कि पानी की मात्रा आधी न हो जाए।
  • अब पानी को छान लें और हल्का ठंडा होने दें।
  • अब इस पानी को धीरे-धीरे पिएं।
या
  • धनिए के बीजों को एक-दो घंटे पानी में भिगो कर रख दें।
  • अब बीजों को पीसकर पेस्ट बना लें और सूजन वाली जगह पर लगाएं।
कैसे है लाभदायक :

धनिया एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो एंटी माइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। पैर में सूजन के उपचार के लिए यह एक कारगर विकल्प हो सकता है (5)।

three. सेंधा नमक

सामग्री :
  • आधा कप एप्सम सॉल्ट यानी सेंधा नमक
  • एक बाल्टी या टब
  • गर्म पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • बाल्टी को गर्म पानी से भर लें और इसमें सेंधा नमक अच्छी तरह मिला दें। ध्यान रहे कि पानी ज्यादा गर्म न हो, वरना आपकी त्वचा जल सकती है।
  • अब सूजे हुए पैर को पानी में 10-15 मिनट के लिए डालें।
कितनी बार करें :

समस्या के दिनों में रात को सोन से पहले यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

पैरों में सूजन का इलाज करने के लिए आप सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह नमक मैग्नीशियम सल्फेट से समृद्ध होता है, जो मांशपेशियों के दर्द और तनाव को कम कर सूजन को ठीक करने में मदद कर सकता है (6)।

four. नींबू

सामग्री :
  • एक चम्मच नींबू का रस
  • आधा चम्मच दालचीनी चूर्ण
  • एक चम्मच जैतून का तेल
  • एक चम्मच दूध
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सभी सामग्रियों को मिला लें।
  • इस मिश्रण को कुछ घंटों के लिए सूजन वाली जगह पर लगाएं।
कितनी बार करें :

रात में सोने से पहले यह उपाय करें।

कैसे है लाभदायक :

नींबू को अपने एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के लिए जाना जाता है (7), जो सूजन को कम करने में आपकी मदद कर सकता है। वहीं, दालचीनी और जैतून का तेल भी अपने एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों के कारण सूजन को करने में मदद कर सकता हैं (eight), (9)। जैतून का तेल त्वचा को पोषण और नरम करने का काम भी करता है (10)।

5. अदरक

सामग्री :
  • आधा चम्मच कुचला हुआ अदरक
  • एक कप पानी
  • नींबू की कुछ बूंदें
  • शहद (स्वादानुसार)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • पानी में अदरक को डालकर कुछ मिनट तक अच्छी तरह उबाल लें।
  • अब पानी को छानकर एक कप में डालें।
  • स्वाद के लिए नींबू की कुछ बूंदें और शहद मिलाएं।
  • अब इसे चाय की तरह धीरे-धीरे पिएं।
कैसे है लाभदायक :

पैरों में सूजन के उपाय के रूप में आप अदरक का इस्तेमाल कर सकते हैं। अदरक विभिन्न औषधीय गुणों से युक्त एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है, जो शरीर के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है। इसलिए, यह दर्द व सूजन से राहत देने का काम कर सकता है (11)।

6. सेब का सिरका 

सामग्री :
  • एक कप सेब का सिरका
  • दो से तीन कप गर्म पानी
  • दो से तीन कप ठंडा पानी
  • एक तौलिया
कैसे करें इस्तेमाल :
  • आधा कप सेब का सिरका गर्म पानी में और आधा कप ठंडे पानी में मिलाएं।
  • सबसे पहले सिरके वाले गर्म पानी में तौलिया भिगोएं और निचोड़ लें। अब इसे सूजे हुए पैर से लपेट दें। दो से तीन मिनट बाद तौलिया हटा दें।
  • अब सिरके वाले ठंडे पानी में तौलिया भिगाएं और निचोड़कर सूजे हुए पैर से लपेट दें।
कितनी बार करें :

अच्छे परिणाम के लिए यह प्रक्रिया हर एक-दो घंटे बाद दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

सेब का सिरका पैरों में सूजन का इलाज प्रभावी रूप से कर सकता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार सेब के सिरके में मौजूद एंटीमाइक्रोबियल गुण सूजन और दर्द को कम करने का काम कर सकते हैं (12)।

7. डैंडिलियन चाय

सामग्री :
  • डैंडिलियन हर्ब का एक बड़ा चम्मच
  • एक कप गर्म पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • गर्म पानी में डैंडिलियन हर्ब डालें और दो-तीन मिनट बाद छान लें।
  • अब इसका सेवन करें।
कितनी बार करें :

समस्या के दिनों में रोजाना एक से दो बार इस चाय को पिएं।

कैसे है लाभदायक :

डैंडिलियन एक आयुर्वेदिक औषधि है, जो पैरों की सूजन को कम करने का प्रभावी तरीका हो सकती है। यह एंटीऑक्सीडेंट गुणों से समृद्ध होती है, जो शरीर के किसी भी भाग में आई सूजन को कम करने में मदद कर सकती है (13)।

eight. कंट्रास्ट बाथ 

सामग्री :
  • गर्म पानी (सहने योग्य)
  • ठंडा पानी
  • दो बाल्टी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • एक बाल्टी को आधा गर्म पानी से भरे और दूसरी बाल्टी को आधा ठंडे पानी से भरें। ध्यान रहे कि पानी ज्यादा गर्म न हो।
  • अपने सूजे हुए पैर को पहले गर्म पानी की बाल्टी में 10 मिनट के लिए डालें और फिर 10 मिनट के लिए ठंडे पानी में डालें।
कितनी बार करें :

रात को सोने से पहले यह प्रक्रिया दोहराएं।

कैसे है लाभदायक :

पैरों की सूजन के लिए कंट्रास्ट बाथ एक कारगर उपाय हो सकता है। सूजे हुए पैर को पानी के अलग-अलग तापमान में डालने से रक्त संचालन को बढ़ावा मिलता है, जिससे सूजन की समस्या से निजात पाया जा सकता है (four) ।

9. बेकिंग सोडा

सामग्री :
  • दो चम्मच बेकिंग सोडा
  • दो चम्मच चावल का पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • चावल उबालें और स्टार्च युक्त पानी निकाल लें।
  • पेस्ट बनाने के लिए चावल के पानी में बेकिंग सोडा मिलाएं।
  • अब इसे अपने सूजे हुए पैर पर 10-15 मिनट के लिए लगाएं।
कितनी बार करें :

पैरों में सूजन को कम करने के लिए एक त्वरित उपाय के रूप में इस पेस्ट का उपयोग करें।

कैसे है लाभदायक :

पैरों में सूजन का इलाज आप बेकिंग सोडा से भी कर सकते हैं। यह एंटीमाइक्रोबियल गुण से समृद्ध होता है (14), जो दर्द व सूजन से राहत देने का काम कर सकता है (15)।

10. अजमोद ( पार्सले)

सामग्री :
  • एक बड़ा चम्मच अजमोद के सूखे पत्ते
  • एक कप गर्म पानी
कैसे करें इस्तेमाल :

गर्म पानी में पत्तियों को दो-तीन मिनट के लिए डुबोएं और फिर चाय की तरह पिएं।

कितनी बार करें :

इस हर्बल टी को दिन में दो से तीन बार पी सकते हैं।

 कैसे है लाभदायक :

अजमोद एक प्राकृतिक खाद्य पदार्थ है, जो पैरों में आई सूजन से निजात दिलाने में आपकी मदद कर सकता है। यह एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होता है (16) और दर्द व सूजन को जल्द कम करने की क्षमता रखता है।

11. एसेंशियल ऑयल 

सामग्री :
  • तीन -चार बूंदें यूकेलिप्टस तेल की
  • तीन-चार बूंदें पेपरमिंट ऑयल की
  • तीन-चार बूंदे नींबू के तेल की
  • आधा बाल्टी गर्म पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • गर्म पानी में सभी एसेंशियल ऑयल को मिलाएं।
  • इस मिश्रण में अपने पैरों को 15 मिनट तक भिगोएं।
  • पैरों को पानी से निकालें और उन्हें तौलिए से पोंछ लें।
कितनी बार करें :

आप हर दूसरे दिन इस घरेलू उपचार का इस्तेमाल कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

ये तीनों एसेंशियल ऑयल एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होते हैं, जो एक साथ मिलकर सूजे हुए पैरों पर प्रभावी रूप से काम कर सकते हैं (17), (18)। पेपरमिंट ऑयल की बात करें, तो इसमे मैंथल नामक खास तत्व होता है, जिसमें एंटीइंफ्लेमेटरी गुण पाया जाता है (19)।

12. जौ का पानी

सामग्री :
  • मुट्ठी भर जौ के दाने
  • एक-दो कप पानी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • जौ को तब तक उबालें, जब तक कि पानी हल्के भूरे रंग का न हो जाए।
  • अब इस पानी को छानकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रख दें।
कितनी बार करें :

रोजाना एक-दो गिलास इस पानी का सेवन करें।

कैसे है लाभदायक :

जौ का पानी प्राकृतिक रूप से दर्द व सूजन को दूर करने का काम कर सकता है। जौ एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होती है, जो आपको जल्द आराम देने का काम करेगी (20)।

13. खीरा

सामग्री :
  • एक खीरा
  • पट्टी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • खीरे को पतले-पतले स्लाइस में काटें।
  • इन स्लाइस को अपने पैरों पर रखें और एक ढीली पट्टी के साथ कवर करें।
  • 20-30 मिनट के बाद पट्टी हटा दें।
कितनी बार करें :

जब भी आप सूजन का अनुभव करें, इस उपाय का उपयोग कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

सूजे हुए पैरों को आराम देने के लिए खीरा अहम भूमिका निभा सकता है। यह कोल्ड थेरेपी की तरह काम करता है, जो सूजन को कम कर त्वचा को पोषित करने का काम करता है (21)।

14. पत्ता गोभी

सामग्री :
  • गोभी के पत्ते
  • पट्टी
कैसे करें इस्तेमाल :
  • गोभी को बिना धोए पत्तों को निकला लें।
  • पत्तियों को थोड़ी देर ठंडा होने के लिए फ्रिज में रख दें।
  • अब इन पत्तों को सूजन वाली त्वचा पर लगाएं और ऊपर से ढीली पट्टी बांध दें।
  • आधे घंटे बाद पत्तियों को हटा दें।
कितनी बार करें :

अगर सूजन ज्यादा है, तो दिन में दो बार यह उपाय कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

ठंडे गोभी के पत्ते सूजी हुई त्वचा को आराम देने का काम करते हैं। यह एक प्राकृतिक उपाय है, जिसका इस्तेमाल लंबे समय से किया जा रहा है। गोभी एंटीऑक्सीडेंट और एंटीइंफ्लेमेटरी गुणों से समृद्ध होती है, जो दर्द व सूजन से राहत देने का काम कर सकती है (22)। एक अध्ययन में पाया गया है कि महिलाओं में स्तनपान के दौरान स्तनों में आई सूजन और दर्द को गोभी के पत्ते दूर सकते हैं (23)।

15. मसाज और एक्सरसाइज

सामग्री :
  • सरसों का तेल (आवश्यकतानुसार)
कैसे करें इस्तेमाल :
  • सरसों के तेल को हल्का गुनगुना गर्म कर लें।
  • फिर रात को सोने से पहले सूजन वाली जगह पर तेल को लेकर करीब पांच से दस मिनट हल्के-हल्के हाथों से मसाज करें।
कितनी बार करें :

अगर सूजन ज्यादा है, तो यह उपाय रोजाना दो बार दोहरा सकते हैं।

कैसे है लाभदायक :

सूजन और दर्द के लिए सरसों के तेल की मालिश एक कारगर और पुराना तरीका है, जिसका इस्तेमाल सदियों से किया जा रहा है। सरसों के तेल में एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो सूजन और दर्द से जल्द निजात दिलाने का काम करते हैं (24)। मसाज के अलावा आप सूजन को कम करने के लिए एक्सरसाइज का सहारा भी ले सकते हैं। अच्छा होगा कि सूजन को कम करने की एक्सरसाइज के लिए आप किसी फिजियोथेरेपिस्ट से संपर्क करें।

पैरों में सूजन होने पर क्या खाना चाहिए – Foods to Eat for Swollen Feet in Hindi

खाने की खराब आदतों के कारण भी आपके पैरों में सूजन आ सकती है। इसलिए, कोशिश करें कि आपके आहार में मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें। जिन खाद्य पदार्थों में सोडियम की मात्रा अधिक हो, उससे दूर रही रहें। इसके अलावा चीनी, गेहूं, अनाज, डेयरी, मक्का और सोया जैसे सभी इंफ्लेमेटरी खाद्य पदार्थों से बचें।

शरीर में यूरिक एसिड बनने से भी पैरों में सूजन होती है, इसलिए जितना हो सके हाइड्रेट रहें।

लेख में बताए गए सभी उपाय कारगर हैं और जल्द अच्छे परिणाम देने की क्षमता रखते हैं। अगर आप कभी भी पैरों की सूजन की समस्या से गुजरते हैं, तो इन प्राकृतिक उपायों का इस्तेमाल शुरू कर सकते हैं। उपचार के साथ-साथ पैरों को ज्यादा से ज्यादा से आराम जरूर दें। सूजन की गंभीर स्थिति में सीधे डॉक्टर से संपर्क करें। आशा है कि पैरों की सूजन पर लिखा यह लेख आपको अच्छा लगा होगा। पैरों की सूजन से जुड़े अपने अनुभव हमारे साथ जरूर साझा करें।

संबंधित आलेख

The submit पैरों में सूजन को कम करने के 15 असरदार घरेलू उपाय – Swollen Feet Home Remedies in Hindi appeared first on TopBeautySecrets.org.

Leave a Comment